कमलनाथ ने कहा- प्रदेश की जनता हमारी नीति और नीयत जानती है; हमने मिलावट और माफिया के खिलाफ अभियान चलाया

कांग्रेस प्रत्याशी मदनलाल चौधरी के पक्ष में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को सभा काे संबाेधित किया। उन्हाेंने कहा कि प्रदेश की जनता हमारी नीति और नीयत जानती है। उन्होंने कहा कि संविधान निर्माता बाबा साहेब आंबेडकर ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि इस तरह से लोकतांत्रिक सरकार गिराकर उपचुनाव होगा। हमने 15 महीने की सरकार में ही अपनी नीयत का परिचय दिया है।

मिलावट और माफिया के खिलाफ अभियान चलाया। गौ शालाएं बनवाईं। लाखों किसानों का कर्जमाफ किया। वे बोले- मैं कमलनाथ हूं, शिवराज नहीं। 15 साल का हिसाब नहीं देते, 15 महीने का हिसाब मांगते हैं। इसलिए आप आम लोगों के बीच सीना तानकर जाएं। सभा काे पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचाैरी ने भी संबाेधित किया।

गाइड लाइन 100 की, आचार संहिता के बाद भी सभा में भीड़
सांची विधानसभा सीट के लिए होने वाले उप चुनाव के लिए मंगलवार से आचार संहिता लागू हो गई है। इस बार यह चुनाव कोविड-19 की गाइड लाइन को ध्यान में रखकर ही कराए जाएंगे। मतदान केंद्र पर भीड़ की स्थिति न बने, इसलिए पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में 39 मतदान केंद्र बढ़ाए हैं। प्रत्येक मतदान केंद्र पर 1000 मतदाताओं तक की संख्या सीमित कर दी गई है । इतना ही नहीं वोट डालने के लिए आने वाले मतदाताओं को ग्लब्स पहनकर ही ईवीएम का बटन दबाना होगा। ग्लब्स और मास्क की व्यवस्था केंद्र पर प्रशासन द्वारा की जाएगी। बुजुर्ग और कोराेना के मरीज डाक मतपत्र के माध्यम से अपना वोट डाल सकेंगे। यह व्यवस्था भी पहली बार निर्वाचन आयोग द्वारा की जा रही है ।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने प्रेसवार्ता में बताया कि सांची विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-142 के लिए 9 अक्टूबर से नामांकन जमा होना प्रारंभ होंगे। नामांकन जमा करने की आखिरी तारीख 16 अक्टूबर है। 17 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी होगी। 19 अक्टूबर तक अभ्यर्थी नामांकन वापस ले सकेंगे। 3 नवंबर को विधानसभा के 365 मतदान केंद्रों पर मतदान कराया जाएगा। वोटिंग के लिए एक घंटे का अतिरिक्त समय भी दिया जाएगा।

नामांकन के समय प्रत्याशी के साथ रहेंगे सिर्फ दो लोग
कोरोना संक्रमण का असर नामांकन प्रक्रिया पर भी दिखाई देगा । इस बार रिटर्निंग आफिसर के कक्ष में उम्मीदवार के साथ सिर्फ 2 लोग ही नामांकन के दौरान मौजूद रह सकेंगे। जबकि पहले उम्मीदवार के साथ 4 लोग नामांकन में साथ आते थे। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा उप निर्वाचन में अभ्यार्थियों को इलेक्ट्रॉनिकली नॉमिनेशन भरने की सुविधा प्रदान की गई है। अभ्यर्थी अब वर्तमान सुविधा के साथ साथ इलेक्ट्रॉनिकली भी नॉमिनेशन भर सकेंगे।

अंबेडकर ने भी नहीं सोचा होगा इस तरह से उप चुनाव होंगे
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि इस तरह से लोकतांत्रिक सरकार गिराकर उपचुनाव होगा। हमने 15 महीने की सरकार में ही अपनी नीयत का परिचय दिया है। मिलावट और माफिया के खिलाफ अभियान चलाया, गौ शालाएं बनवाई, ये क्या पाप किया है। लाखों किसानों का कर्ज माफ किया। सभा को पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी सुखदेव पांसे कांग्रेस जिला अध्यक्ष देवेंद्र पटेल, कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष मुमताज खान, विदिशा विधायक शशांक भार्गव, उदयपुरा विधायक देवेंद्र पटेल ने भी संबोधित किया।

प्रत्याशी ने मंच से किया लोगों काे साष्टांग प्रणाम
कांग्रेस प्रत्याशी मदनलाल चौधरी ने कहा कि मैं पूरे समय सेवक की तरह काम करूंगा। एक बार उन्होंने मंच पर लेटकर लोगों को साष्टांग प्रणाम किया। सभा के दौरान वे ज्यादा समय हाथ जोड़े खड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.