ऊर्जा मंत्री ने कहा- बिजली के दाम बढ़ाना जरूरी हुआ तो बढ़ेंगे

जबलपुर। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि बिजली की दरों को लेकर अभी समीक्षा होगी। दाम नियंत्रित करने के लिए जरूरी है खर्च कम हो। पैसे की जो जरूरत है उसकी पूर्ति किस तरह की जा सकती है इसका आकलन होगा। यदि फिर भी आय के स्त्रोत पर्याप्त नहीं होंगे तो जरूरी होने पर दाम बढ़ाया भी जा सकता है। वे शक्तिभवन में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे।

गरीबों के हित का ध्यान रखेगी सरकार:

उन्होंने बिजली के दाम को लेकर सीधा कोई जवाब नहीं दिया लेकिन ये जरूर कहा कि गरीबों के हित का ध्यान सरकार रखेगी। इंदिरा गृह ज्योति योजना पर उन्होंने पात्र हितग्राहियों की पहचान का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सही उपभोक्ता इस योजना से लाभांवित हो रहा है कि नहीं इसकी जांच होनी चाहिए।

लाइन लॉस कम करना आवश्यक:

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली की दर को काबू करने के लिए लाइन लॉस कम करना आवश्यक है। कंपनियों के खर्च भी सीमित करना होगा। इसी कड़ी में कंपनियों के स्टोर में रखे अनावश्यक सामग्री का आकलन करवाया जा रहा है। उन्होंने सौभाग्य योजना को लेकर पूछे सवाल पर कहा कि योजना की जांच होगी। जो तथ्य आएंगे उन्हें सार्वजनिक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की 15 माह की सरकार जब बनी तो जनता ने सोचा कि सुविधा और चेहरा मिलेगा लेकिन लड़की की शादी के लिए चेहरा नौजवान का दिखाया और वरमाला 74 साल के बुजुर्ग से डलवा दी। कांग्रेस कमेटी के सीईओ कमल नाथ ने प्रदेश की जनता को लूटा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *