आरबीआई का तोहफा:अब सोना गिरवी रखने पर आपको मिलेगा 15% ज्यादा पैसा, 31 मार्च 2021 तक उठा सकते हैं छूट का लाभ

कोविड-19 महामारी को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सोना गिरवी रखकर लोन लेने वालों को बड़ा तोहफा दिया है। आरबीआई ने गोल्ड ज्वैलरी के बदले उसके मूल्य के 90 प्रतिशत तक लोन देने की वाणिज्यिक बैंकों को मंजूरी दी है। मौजूदा नियमों के अनुसार, गोल्ड ज्वैलरी पर बैंक उसके मूल्य के 75 फीसदी तक ऋण दे सकते हैं। आरबीआई ने अब यह सीमा बढ़ाकर 90 प्रतिशत करने का फैसला किया है। आरबीआई के इस फैसले का गोल्ड लोन देने वाली एनबीएफसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

31 मार्च 2021 तक मिलेगा लाभ

केंद्रीय बैंक ने मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के बाद जारी विकास एवं नियामक नीति संबंधी बयान में कहा है कि आम गृहस्थों, नए उद्यमियों और छोटे कारोबारियों पर कोविड-19 के आर्थिक प्रभाव को कम करने के उद्देश्य से गोल्ड ज्वैलरी के बदले दिए जाने वाले गैर-कृषि लोन की सीमा मौजूदा 75 प्रतिशत से बढ़ाकर मूल्य का 90 प्रतिशत करने का फैसला किया गया है। यह छूट 31 मार्च 2021 तक उपलब्ध होगी। आरबीआई की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के मुताबिक, 01 अप्रैल 2021 से गोल्ड ज्वैलरी पर दिए जाने वाले नए ऋण की सीमा फिर उसके मूल्य के 75 प्रतिशत के बराबर रह जाएगी।

आम आदमी को ऐसे मिलेगा लाभ

कोविड-19 के कारण बड़ी संख्या में लोगों के सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया है। इससे निपटने के लिए आम आदमी घर में रखी गोल्ड ज्वैलरी पर लोन ले रहा है। अभी तक यानी 6 अगस्त तक 1 लाख के गोल्ड पर 75 हजार रुपए का लोन मिल रहा है। आरबीआई के फैसले के बाद कल यानी 7 अगस्त से 1 लाख के गोल्ड पर 90 हजार रुपए का लोन मिलेगा। यानी अब 1 लाख रुपए के गोल्ड पर 15 हजार रुपए का अतिरिक्त लोन मिल जाएगा। आरबीआई के इस फैसले से आम आदमी को ज्यादा लोन के लिए कम गोल्ड गिरवी रखना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort