आपातकाल की बरसी / शिवराज ने कहा- कांग्रेस का दूसरों को आम और खुद को खास समझने का भाव अब भी नहीं बदला, तो यह देश उन्हें बदल देगा

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आपातकाल की बरसी पर आज लोकतंत्र के सेनानियों का स्मरण करते हुए उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की है। चौहान ने ट्वीट में लिखा है ”1975 में आज के ही दिन आपातकाल लागू हुआ था। उस काले दिन पर कवि नागार्जुन की कुछ पंक्तियां साझा कर रहा हूं- छात्रों के लहू का चस्का लगा आपको, किसी ने टोका तो ठस्का लगा आपको, फूल से भी हल्का, समझ लिया आपने हत्या के पाप को, इन्दु जी, इन्दु जी, क्या हुआ आपको !”

मुख्यमंत्री ने आपातकाल को लेकर सिलसिलेवार ट्वीट में लिखा है ‘विविध रंगों और विचारों से रंगा यह देश न कभी झुका है और न झुकेगा। आपातकाल लगाने वाले न रहे और न वह विकृत मानसिकता रहेगी। कांग्रेसी स्वयं को आज भी विशिष्ट समझते हैं, दूसरों को आम और स्वयं को खास समझने का यह भाव अब नहीं बदला, तो यह देश उन्हें बदल देगा।

देश आपातकाल की उन क्रूर यातनाओं को आज भी नहीं भूला, लेकिन देश आगे बढ़ेगा। इस संकल्प के साथ कि राष्ट्र उत्थान ही हमारा पहला धर्म है। भारत की आत्मा को बचाने के लिए अपने प्राणों को उत्सर्ग करने वाले महान आत्माओं के चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि।’

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आज ही के दिन 1975 में देश में आपातकाल लागू किया था। उस समय के लोकतंत्र समर्थक नेताओं ने तत्कालीन सरकार के इस कदम का जमकर विरोध किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.