अविनाश लवानिया ने बनाया था स्वच्छता मिशन का रोडमैप, भोपाल में 7 महीने निगमायुक्त भी रह चुके हैं

भोपाल. मई 2018 से दिसंबर 2018 तक सात महीने के नगर निगम कमिश्नर के कार्यकाल में अपनी छाप छोड़ने वाले 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अविनाश लवानिया अब भोपाल जिले के कलेक्टर बनाए गए हैं। लवानिया ने स्वच्छ भारत मिशन के लिए एक रोडमैप बनाकर काम शुरू किया था। माना जाता है कि यदि लवानिया जनवरी 2019 के सर्वे के समय भोपाल में होते तो भोपाल की रैंकिंग बेहतर हो
सकती थी।

लवानिया फिलहाल संचालक खाद्य के साथ वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन के एमडी की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इस बार रिकॉर्ड 129 लाख मैट्रिक टन गेहूं का उपार्जन हुआ और इसके भंडारण की भी व्यवस्था की जा रही है। गेहूं के उपार्जन का यह आंकड़ा देश में सर्वाधिक है। इसके पहले वे सिंहस्थ के दौरान उज्जैन निगम कमिश्नर और मेला अधिकारी रहे। सिंहस्थ की सफलता के बाद ही उन्हें होशंगाबाद कलेक्टर बनाया था। अगस्त 2016 से मई 2018 तक वे होशंगाबाद में कलेेक्टर रहे।
अभी कोरोना संक्रमण की रोकथाम ही प्राथमिकता

लवानिया ने कहा कि फिलहाल कोरोना संक्रमण की रोकथाम ही प्राथमिकता है। भोपाल जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर जारी कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा। अन्य योजनाओं व विकास कार्यों की समीक्षा करने के बाद ही आगामी निर्णय होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllEscort