अलास्का में 7.5 तीव्रता का भूकंप, सुनामी वार्निंग जारी

अमेरिका के अलास्का में भीषण भूकंप आया है। स्थानी एजेंसियों के मुताबिक, यहां मंगलवार सुबह 7.5 तीव्रता का भूकंप आया। इसका कारण समुद्र में सुनामी की लहरें भी उठीं। तत्काल अलर्ट जारी किया गया और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का काम शुरू हुआ। अब तक किसी तरह के जान माल के नुकसान की खबर नहीं है। अधिकारियों के मुताबिक, अलास्का प्रायद्वीप सहित सुदूर अमेरिकी राज्य के दक्षिणी तट के अधिकांश हिस्से के लिए सुनामी की चेतावनी जारी की गई है। भूकंप का केंद्र समुद्र में 25 मील (40 किमी) की गहराई और लगभग 60 मील (100 किमी) की दूरी पर रहा। इससे सैंड पॉइंट के छोटे से शहर में दो फुट की लहरें देखी की गईं।

राज्य का सबसा बड़ा शहर एंकोरेज भूकंप के केंद्र से लगभग 600 मील (1,000 किमी) की दूरी पर स्थित है। हालांकि ताजा समाचार के मुताबिक, सुनामी की चेतावनी को डाउनग्रेड कर दिया गया है, यानी अब उतना खतरा नहीं है। मौसम विभाग लगातार नजर रखे हुए है।

कोल्ड बे निवासी माइकल एशले ने कहा कि यह एक तगड़ा भूकंप था। उनके घर में सभी सोफे और अन्य सामान चारों ओर घूम रहा था। उन्होंने बमुश्किल खुद को बचाया। संयुक्त राज्य अमेरिका के भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने कहा कि भूकंप से हताहतों की संख्या और नुकसान की कम आशंका है। इस भूकंप के बाद 5.0 तीव्रता के कम से कम पांच आफ्टरशॉक महसूस किए गए।

सोमवार को आए भूकंप के तीन महीने पहले भी 7.8 तीव्रता का भूकंप आया था। अलास्का भूकंपीय रूप से सक्रिय प्रशांत रिंग ऑफ फायर का हिस्सा है। मार्च 1964 में 9.2 तीव्रता के भूकंप से अमेरिकी राज्य प्रभावित हुआ था, जो उत्तरी अमेरिका में अब तक का सबसे मजबूत रिकॉर्ड था। इससे भारी तबाही हुई थी और एक सुनामी का असर अलास्का की खाड़ी, अमेरिका के पश्चिमी तट और हवाई तक देखा गया था। उस भूकंप और सुनामी से 250 से अधिक लोग मारे गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.