अलर्ट पर इजराइल:विदेशी यात्रियों की एंट्री पर बैन

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के चलते इजराइल ने सभी विदेशी यात्रियों की एंट्री पर बैन लगा दिया है। शुक्रवार को ही देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित पहला मरीज मिला था। इसके बाद ही इजराइल ने कई दक्षिण अफ्रीकी देशों के यात्रियों पर रोक लगा दी थी। अब सभी विदेशियों की देश में एंट्री बैन कर दी गई है। ‘द टाइम्स ऑफ इजराइल’ के मुताबिक- सरकार ने फिलहाल 14 दिन के लिए फॉरेन पैसेंजर पर बैन लगाया है। प्रतिबंध लागू भी हो गया है। विदेशियों की एंट्री बैन करने वाला पहला देश है।

इजराइली नागरिकों को भी रहना होगा क्वारैंटाइन
नए नियमों के मुताबिक, अब अगर कोई वैक्सीनेटेड इजराइली नागरिक देश वापस आता है तो उसे कोरोना टेस्ट कराना होगा। 72 घंटे क्वारैंटाइन रहना होगा। क्वारैंटाइन पीरियड खत्म होने पर फिर कोरोना टेस्ट होगा। सभी रिपोर्ट्स निगेटिव आना जरूरी है।
ऐसा व्यक्ति जिसका वैक्सीनेशन पूरा नहीं हुआ है, उसे 7 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा। इसके बाद कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी।

शनिवार को बुलाई गई थी बैठक
नए वैरिएंट पर चर्चा के लिए शुक्रवार को बुलाई गई कैबिनेट मीटिंग में प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने कहा था- नया वैरिएंट ज्यादा संक्रामक है और डेल्टा वैरिएंट से ज्यादा तेजी से फैलता है। इस संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है कि ओमिक्रॉन पर वैक्सीन कारगर है या नहीं। ये इमरजेंसी जैसे हालात हैं। 24 घंटे तैयार रहें।

अमेरिका सहित कई देश पहले ही लगा चुके हैं बैन
नए वैरिएंट के डर से ब्रिटेन, सउदी अरब, ईरान, अमेरिका और श्रीलंका ने भी कई अफ्रीकी देशों पर लगाया ट्रैवल बैन लगा दिया है। ओमिक्रॉन से निपटने के लिए अफ़्रीका के सात-आठ देशों से विमानों और यात्रियों के आने पर प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है।

भारत में अब तक ट्रैवल बैन नहीं
भारत ने अब तक किसी देश की फ्लाइट पर बैन नहीं लगाया है, लेकिन दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरिशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, इजरायल, हॉन्गकॉन्ग और ब्रिटेन समेत यूरोप के कुछ देशों से आने वाले यात्रियों को अतिरिक्त सुरक्षा मानकों का पालन करना होगा।

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने शनिवार को बताया कि दक्षिण अफ्रीका से लौटने वाले हर व्यक्ति को मुंबई आने पर क्वारैंटाइन किया जाएगा। साथ ही उनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे। वहीं, गुजरात में ऐसे यात्रियों का RT-PCR जरूरी होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.