अमिताभ की तरह बोले भोपाल कलेक्टर- ‘जवाब लॉक कर दें’:

भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया बुधवार को KBC (कौन बनेगा करोड़पति) के अमिताभ बच्चन के रूप में नजर आए। उन्होंने बच्चों से सवाल पूछे और कहा कि ‘जवाब लॉक कर दें’। सही उत्तर देने वाले बच्चों को नगद रुपए देकर पुरुस्कृत भी किया गया।

भोपाल के गांवों में स्वच्छता को लेकर अनूठी पहल की जा रही है। कहीं ‘लोटा दौड़’ कराई गई तो कहीं पर रिक्शे से कचरा कलेक्शन की शुरुआत की गई है। अब सफाई से जुड़े प्रश्नों के उत्तर देने पर इनाम भी मिलेगा। बुधवार को भोपाल के सूखी सेवनिया गांव में प्रतियोगिता हुई। कलेक्टर लवानिया ने ‘कौन बनेगा करोड़पति’ की तर्ज पर स्कूली बच्चों से प्रश्न पूछे। सूख सेवनियां में शाम को ‘स्वच्छता में कौन बनेगा विजेता’ प्रतियोगिता कराई गई। कलेक्टर लवानिया ने खुद सीट संभाली और बच्चों से सवाल पूछने शुरू किए। सबसे पहले हॉट सीट पर छात्रा शिव कुमारी आई। कलेक्टर ने छात्रा से कुल नौ सवाल पूछे। जिनका सही उत्तर मिला और कलेक्टर ने छात्रा को 900 रुपए का नगद पुरस्कार दिया। जिला पंचायत सीईओ विकास मिश्रा भी मौजूद थे।

ये प्रश्न पूछे कलेक्टर ने

कलेक्टर लवानिया ने छात्रा शिव कुमारी से पहला सवाल पूछा कि मलेरिया फैलाने वाला मच्छर कहां पनपता है। इसमें 4 ऑप्शन दिए गए थे। छात्रा ने ‘रुके हुए पानी’ के ऑप्शन को उत्तर के रूप में बताया, जो सही था। इसके बाद विवाह की सही उम्र क्या है?, ओडीएफ का फुल फार्म क्या है?, किस मंत्रालय ने स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की? एसबीएम का फुल फार्म क्या है? एसबीएम की अवधारणा के पीछे प्रेरणा देने वाले कौन है? ओडीएफ प्लस ग्राम की अवधारणा के घटक कौन से है? स्वच्छ भारत मिशन के फेज-2 के अंतर्गत एक गांव में न्यूनतम कितने परिवारों में तरस अपशिष्ठ प्रबंधन का कार्य किया जाना है? आदि प्रश्न भी पूछे गए। खास बात ये थी ऑप्शन के साथ ही छात्रा के बाद लाइन के रूप में 50-50, ऑडिशन्स पोल और एक्सपर्ट की सुविधा भी थी।

ओडीएफ प्लस घोषित होंगी पंचायतें

जिले की कुल 187 ग्राम पंचायतें ओडीएफ प्लस की दौड़ में है। इसी महीने यह घोषित हो जाएगी। इसके चलते ही जिलेभर में तरह-तरह की एक्टिविटी की जा रही है। ग्रामीणों को स्वच्छता के बारे में समझाया जा रहा है।

ये आयोजन हो चुके

ग्राम खजूरी सड़क में सांस-बहू लोटा दौड़ का आयोजन जिला पंचायत करा चुका है। वहीं, अब 10 गांवों में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन के लिए रिक्शा दौड़ रहे हैं। तूमड़ा, सूखी सेवनिया, बालमपुर, खजूरी सड़क, कान्हासैया, कालापानी, मेण्डोरी, आदमपुर छावनी एवं मुंगालिया छाप के लिए 29 नवंबर को ई-रिक्शा प्रदाय किए गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.