अदालत परिसर का एक चपरासी कोरोना पॉजिटिव मिला, सिविल व क्रिमिनल फाइलिंग काउंटर बंद

भोपाल के जिला अदालत तक कोरोना पहुंच गया हैं। फाइलिंग सेंटर का एक चपरासी लक्ष्मण कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसके बाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र कुमार वर्मा की राजधानी के अन्य जजों के साथ मीटिंग चल रही है। मीटिंग के बाद ही आगे कोई निर्णय लिया जाएगा। सिविल फाइलिंग काउंटर के सभी कर्मचारियों को अगले आदेश तक होम कोरेंटाइन रहने के आदेश जारी कर दिए हैं।
चपरासी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद जिला अदालत में सिविल व क्रिमिनल फाइलिंग काउंटर फौरन बंद कर दिए गए हैं। ऐसी भी संभावना बन गई है कि अब जल्द ही अदालत के कुछ एरिया को सील किया जा सकता। पॉजिटिव आया प्यून फाइलिंग काउंटर पर बैठता था। सभी कोर्ट से फाइल लाता ले जाता था। इस मामले में अब हाईकोर्ट के आदेश का इंतजार है। उनके निर्देश के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र कुमार वर्मा ने इस पूरे मामले की पुष्टि करते हुए कहा है कि हाईकोर्ट को मामले से संबंधित पूरी जानकारी भेज दी गई है। रजिस्ट्रार जनरल की ओर से जैसे भी आदेश प्राप्त होगा उसके बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
29 जून से काम शुरू हुआ था
मध्यप्रदेश में 29 जून से कोर्ट में काम शुरू हो गया था। जिला अदालत में पहले ही दिन थर्मल स्कैनिंग मशीन सिर्फ एक घंटे में ही खराब हो गई थी। अदालत के मैन गैट के दाएं तरफ सीजेएम कोर्ट के बाहर तीन अलग-अलग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम लगाए गए हैं। इसके अलावा कुटुंब न्यायालय में मामलों की सुनवाई के लिए भी वीडियो कांफ्रेंसिंग सिस्टम कोर्ट रूम के बाहर लगाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.