अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर फैसला एक महीने के लिए टला; बीसीसीआई को टैक्स छूट मामले में दिसंबर तक की मोहलत

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के भविष्य को लेकर फैसला एक महीने के लिए टाल दिया है। बुधवार को बोर्ड की वर्चुअल मीटिंग में यह तय हुआ। इधर, आईसीसी ने बीसीसीआई को टैक्स छूट मामले में दिसंबर तक की मोहलत दे दी है।

2021 में होने वाले महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप के आयोजन पर भी अगले महीने ही फैसला लिया जाएगा।

टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारी शेड्यूल के मुताबिक जारी रहेगी: आईसीसी

आईसीसी ने एक बयान जारी कर बताया कि सदस्य देशों के बीच इसे लेकर सहमति बनी है कि अक्टूबर में होने वाले मेंस टी-20 वर्ल्ड कप और 2021 के महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप के आयोजन को लेकर वह आपात योजनाओं को तलाशना जारी रखेगी, लेकिन दोनों टूर्नामेंट की तैयारी तय शेड्यूल के हिसाब से ही जारी रहेगी। टी-20 वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक होना है।

‘खिलाड़ियों की सुरक्षा और स्वास्थ्य सबसे जरूरी’

आईसीसी के सीईओ मनु साहनी ने बैठक के बाद बयान में कहा- हमें इस पर फैसला करने के लिये केवल एक मौका मिलेगा और यह सही होना चाहिए। हम अपने सदस्यों, ब्रॉडकास्टर्स, सरकारों और खिलाड़ियों से सलाह लेना जारी रखेंगे ताकि उचित फैसला करें।

आईसीसी के मुताबिक, कोरोना की वजह से पैदा हुए हालात में खिलाड़ियों और सभी पक्षों का स्वास्थ्य अहम है। इसलिए बोर्ड तेजी से बदल रहे हालात की लगातार समीक्षा कर रहा है। ताकि स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए क्रिकेट टूर्नामेंट कराने का रास्ता निकाला जा सके।

टैक्स छूट पर भारतीय बोर्ड को मोहलत मिली

आईसीसी ने बीसीसीआई के साथ टैक्स छूट मामले पर चल रही रस्साकशी को कम से कम दिसंबर तक खत्म करने का फैसला किया है। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने भारतीय बोर्ड की सरकार से टैक्स छूट हासिल करने की डेडलाइन बढ़ा दी है। टी-20 और वनडे वर्ल्ड कप जैसे आईसीसी टूर्नामेंट के लिए यह टैक्स छूट अनिवार्य होती है। इसी मामले पर दोनों पक्षों के बीच लंबे वक्त से विवाद चल रहा है।

इससे पहले बीसीसीआई ने आईबीसी (आईसीसी की कारोबारी ईकाई) से 30 जून तक का समय मांगा था। हालांकि, आईसीसी ने यह अतिरिक्त समय देने से मना कर दिया था। अगर टैक्स में छूट नहीं मिलती है, तो आईसीसी को करीब 100 मिलियन डॉलर (करीब 756 करोड़ रुपए) का नुकसान हो सकता है।

वर्ल्ड कप के लिए 3 विकल्प हो सकते हैं
महामारी के कारण ऑस्ट्रेलिया इस साल वर्ल्ड कप नहीं कराना चाहता। ऐसे में इस टूर्नामेंट को लेकर तीन विकल्प हैं।

पहला विकल्प यह कि वर्ल्ड कप को 2021 में जनवरी से मार्च के बीच कराया जाए, लेकिन तब मार्च-अप्रैल में आईपीएल भी होगा। साथ ही जनवरी-मार्च में इंग्लैंड को भारत दौरे पर आना है। जहां 5 टेस्ट की सीरीज खेली जाएगी। ऐसे में वर्ल्ड कप होना बेहद मुश्किल है।
अगले साल अक्टूबर में भारत में टी-20 वर्ल्ड कप होना है। ऐसे में दूसरा विकल्प जिस पर चर्चा हुई, वो यह था कि 2021 टूर्नामेंट की मेजबानी ऑस्ट्रेलिया को दे दी जाए। जबकि भारत 2022 में भी वर्ल्ड कप करा सकता है।
तीसरा विकल्प यह कि ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड कप को 2022 में करा सकता है। इसके लिए कई खिलाड़ी और क्रिकेट बोर्ड भी तैयार हो जाएंगे। बशर्ते उस दौरान कोई आईसीसी इवेंट न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.