Uncategorizedराजस्थान

राजस्थान कांग्रेस में पायलट की वापसी:सचिन पायलट ने सोनिया, राहुल और प्रियंका को शुक्रिया कहा, बोले- पार्टी पद देती है तो ले भी सकती है

जयपुर. राजस्थान की सियासी उठापटक आखिरकार 32वें दिन खत्म हो गई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी से सोमवार को मुलाकात के बाद बागी नेता सचिन पायलट और उनके साथी 18 अन्य विधायक मान गए। इसके बाद पायलट ने ट्वीट कर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को शुक्रिया कहा। कहा कि वे बेहतर भारत और राजस्थान के लिए काम करते रहेंगे।

दरअसल, पायलट की आलाकमान से सोमवार को दो घंटे बातचीत हुई। इसमें पायलट को आश्वासन दिया गया कि उनके और अन्य बागी विधायकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी। इस दौरान मुख्यमंत्री पद, बागी विधायकों को उनके पद दोबारा देने और कमेटी गठित करने जैसे समझौतों पर भी बात हुई।
पायलट ने कहा- लड़ाई आदर्शों पर थी

सचिन पायलट ने कहा, ‘‘लंबे समय से कुछ मुद्दों को मैं उठाना चाहता था। शुरू से ही कह रहा हूं कि ये लड़ाई आदर्शों पर थी। मैंने हमेशा ही सोचा था कि पार्टी हित में इन मुद्दों को उठाना जरूरी है। सोनिया जी ने परेशानियों और सरकार की समस्याओं को सुना। लगता है कि जल्द ही मुद्दों को हल किया जाएगा।’’
उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों ने मेहनत की है, उनकी सरकार में भागीदारी हो। लड़ाई पद के लिए नहीं, आत्मसम्मान के लिए थी। पार्टी पद देती है, तो पार्टी पद ले भी सकती है। उन्होंने कहा कि जो वादे सत्ता में करके आए थे, वो पूरा करेंगे।’’
‘सोनिया-राहुल ने मेरी बात सुनी’

पायलट ने कहा, ‘‘मेरे खिलाफ बहुत कुछ कहा गया। मैंने आलाकमान को सब बताया है। मुझे खुशी है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी ने मेरी बात सुनी। पिछले कुछ समय से हमारे साथी विधायक दिल्ली आए हुए थे। हम लोगों के सरकार और संगठन के कई मुद्दे थे, जिन पर हम बात करना चाहते थे। व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए कुछ ऐसी बातें बोली गईं जिस पर मुझे आश्चर्य हुआ। मुझे भरोसा दिया गया है कि तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर जल्द ही उन तमाम मुद्दों का निराकरण किया जाएगा, जो हमने उठाए हैं।’’

बागी विधायकों से मिली कमेटी
प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल और अहमद पटेल की कमेटी ने सोमवार रात दिल्ली में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों से बातचीत की। इससे पहले, अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सीएम गहलोत से भी बात की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close